Friday, January 4, 2013

HINDI SEX STORY IN HINDI FONT


मेरी मां के कथनानुसारजो कहानी मैं आपको सुनाने जा रहा हूंसर्वथा सत्य है
आज से लगभग सौ साल पहले भारत के किसी गांव में एक युवा किसान दम्पति और किसान की मां रहते थेदुर्भाग्यवश एक दुर्घटना में किसान की मृत्यु हो गई। किसान की पत्नी रोज शुबह जल्दी उठ कर चक्की से आटा पीसती थी। किसान की मां को बहू को इतना सारा काम करते हुए देखते बडा कष्ट होता था। बहू ने कहा, ''मां,  मुझे तो कुछ भी नहीं करना पडता। वे आ जाते हैं और कहते हैंचल पिसादें। सारा जोर वह लगाते हैंमैं तो केवल मूठ पर हाथ लगाए रखती हूं। सवेरा होने के पहले ही चले जाते हैं'' मां कुछ ज्यादा नहीं बोलीबस अच्छा कह कर चुप हो गई। दूसरे दिन मां छिप के बेटे के आने का इन्तजार करती रही। जब किसान का भूत चक्की पिसा कर उठ के जाने वाला थामां ने झपट कर पीछे से उसकी चोटी काट ली। किसान वगैर चोटी के उडने में असमर्थ था। क्या करताफिर से रह कर खेती बाडी क़रने लगा। उसके दो बच्चे भी हुएएक लडक़ा और एक लडक़ी
इस बात को कई साल हो गए और अब किसान की लडक़ी की शादी होने वाली थी। आंगन में मंडप लगाया गया और फेरे होने वाले थेकिसान ने अपनी मां से कहा, ''मांआज तो मुझे मेरी चोटी दे दे जिससे बिटिया की शादी में जी भर कर नाच लूं'' यहीं पर बुढिया चूक गई। उसने चोटी लाकर बेटे के हाथ में दी। चोटी लेकर किसान खूब नाचा और मंडप के बीच से हवा बन कर चिडिया की तरह फुर्र से उड क़र निकल गया। वह फिर कभी लौट कर नहीं आयाआज तक उस किसान का परिवार भुतहा कहलाता है

TO READ MO RE VSIT: REAL HORROR STORY

3 comments: